International Yoga Day: योग बनाए निरोग

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2020 (21 जून) कोरोना महामारी के कारण भारत सरकार की तरफ से डिजिटल योग के तौर पर मनाने की घोषणा हुई है । इसबार विश्व योगदिवस का  Theme है : Yoga at Home, Yoga with Family (घर में योग , परिवार के साथ योग )

जिसका उद्देश्य लोगों में स्वस्थ जीवनशैली को अपनाने के लिए जागरुक करना है।

आओ हम सब मिलकर योग दिवस मनायें,
गांव-गांव और शहर-शहर में, इसकी अलख जगायें”।

घर पर योग , परिवार के साथ योग

कोरोना के कारण किसी प्रकार की Gathering करना खतरे से खाली नहीं इसलिए घर में रहकर योगाभ्यास करें ताकि कोरोना के कारण किसी प्रकार की समस्या ना हो और योगाभ्यास से अपनी इम्युनिटी यानी रोग प्रतिरोधक शक्ति आपका कोरोना का मुकाबला कर सकें । योग इसलिए भी जरुरी हो गया है क्योंकि लगातार घरों में एक भय के साथ बंद रहने से कई शारीरिक व मानसिक चुनौती बढ़ी है। तनाव, डिप्रेशन जैसे कई मामले देखने को आ रहें हैं। ऐसे में योग ना सिर्फ मानसिक शांति बल्कि शारीरिक फिटनेस व आध्यात्मिक जागरण का मंत्र बन सामने खड़ा है।

शायद आप सभी इस बारे में अवश्य अवगत होंगे कि आज भारत की प्राचीन परंपरा विदेशों तक अपनी जड़े जमा चुकी है और बहुत से देशों में निरोगी काया के लिए योग पर निर्भर रहते हैं। यहीं नहीं योग और साधना के जरिए मानसिक शांति भी मिलती है। रोजाना किया जाने वाला प्राणायाम मस्तिष्क को सुकून और विकारों से दूर रहने में मदद करता है। दिनभर की भागदौड़ के लिए खुद को तैयार करना है तो सुबह के केवल 30 मिनट योग को दें। फिर देखिए कैसे आप तन और मन दोनों से तरोताजा महसूस करेंगे। तो आइए जानते हैं कुछ महत्वपूर्ण आसनों के बारे में जो केवल आप सभी को 30 मिनट तक करने से आप, अपना आप को स्वस्थ रखने में मददगार सिद्ध होंगे। 

सुखासन

रोजाना केवल 10 मिनट तक अगर आप इस आसन को करेंगे को ये मन-मस्तिष्क को एकाग्र चित्त करने के साथ ही स्फूर्ति प्रदान करने में मदद करता है। सांसों पर नियंत्रण के जरिए आप साधना करते हैं। साथ ही इस आसन को करने के लिए बैठने का पोश्चर आपकी रीढ की हड्डी को मजबूत करने का काम करता है।

अधोमुख सर्वासन

तीन से चार मिनट केवल इस आसन को देने से आपके शरीर में लचीलापन आएगा। जिसकी वजह से कमर, पैरों और कंधे में होने वाले दर्द से राहत मिलेगी। बाजुओं को मजबूती मिलेगी और सबसे खास बात की शरीर का एक्स्ट्रा फैट कम होगा। साथ ही फेफड़ों को मजबूती मिलेगी।

ताड़ासन

लगातार बैठे-बैठे काम करने और पैदल कम चलने की वजह से पैरों में कमजोरी आ जाती है। ताड़ासन का अभ्यास रोजाना पैरों को मजबूती देता है। रोजाना 12 से 15 सेकेंड के लिए इस आसन को करना काफी लाभदायक है। 

त्रिकोणासन

अगर आप कमर और पेट पर जमा चर्बी के परेशान है तो रोजाना इन आसनों के साथ ही त्रिकोणासन को भी करें। इसका अभ्यास कुछ ही दिनों में आपकी पेट की चर्बी को कम करने में मदद करता है। 

बालासन

पाचन शक्ति को मजबूत करने और सांस की समस्या को सही करने के लिए बालासन एक उपयोगी आसन है। रोजाना इसका अभ्यास कमर और कंधे के दर्द से निजात दिलाएगा। तो अगर आप चाहते हैं कि शरीर से जुड़े छोटे-मोटे कष्ट आपको तकलीफ न दें तो रोजाना केवल 30 मिनट इन योग के आसनों को जरूर करें।

आज के लिए इतना ही दोस्तो। मिलते है फिर एक नए ब्लॉग में। आशा करती हूं कि आप सभी को यह ब्लॉग पसंद आए। और हा आप सभी अपने विचार अवश्य व्यक्त करे।

0 thoughts on “International Yoga Day: योग बनाए निरोग”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *